Hemmano-Articles
प्रश्नोत्तरी 

क्या टेलीकॉम कंपनी हमारी वॉइस कॉल रिकॉर्ड करती है?

क्या टेलीकॉम कंपनी हमारी वॉइस कॉल रिकॉर्ड करती है?


इसका जवाब ना है, क्योंकि कोई आपकी प्राइवेसी को स्टोर क्यों करना चाहेगा जब उससे उसको कोई आर्थिक फायदा ही नहीं हो रहा हो।

वॉइस कॉल रिकॉर्ड करती है?

इसका उत्तर हम वर्गीकृत रूप से समझ सकते हैं –

  • मान लीजिए आपकी वॉइस कॉल रिकॉर्ड  होती है

हाँ यह संभव है और लीगल (कानूनन सही) भी है, लेकिन यह सही केवल उसी परिदृश्य में है जब सरकार अथवा प्रशासन को संदेहास्पद व्यक्ति लगते हैं जो कि समाज अथवा देश को नुकसान पहुँचा सकते हैं|

किन्ही विशेष परिस्थितियों में प्रशासन द्वारा टेलीकॉम कंपनी को आपकी रिकॉडिंग करने के लिए सूचित कर दिया जाता है कि आपकी कॉल की रिकॉर्डिंग करनी है और सुरक्षित रूप से प्रशासन को पहुँचानी है

(वह रिकॉर्डिंग स्वयं कम्पनी भी स्टोर नहीं कर सकती, जब लोकहित का मामला होता है)। इसी परिदृश्य में कॉल रिकॉर्डिंग सम्भव है अन्यथा आप निश्चित रहें।

  • कंपनी को आपकी वॉइस कॉल रिकॉर्ड करने से क्या लाभ है?

वर्ष 2011 में इंटेलिजेंस ब्यूरो ने सभी टेलीकॉम कंपनियों को ग्राहकों का डाटा संग्रहण करना जरुरी कर दिया था लेकिन उसमें भी वॉइस कॉल रिकॉर्ड  जैसे ऑडियो फाइल का ज़िक्र नहीं था|

उस दौरान उन्होंने केवल कॉल डिटेल्स और History को 5 वर्ष तक रखने का आदेश दिया था जो कि वर्षों के बाद ओवरराइट होती जाएगी।

सामान्य तौर पर देखा जाए तो कम्पनी को अपने सभी ग्राहकों की वॉइस कॉल रिकॉर्ड करने से किसी भी प्रकार का लाभ नहीं हो सकता|

उल्टा कंपनी को स्टोरेज खरीदने व इसे लंबे समय तक रखने के लिए आर्थिक हानि होती है। नहीं समझे? –

चलिए इस उदाहरण से समझते हैं – मान लीजिए जिस टेलीकॉम कम्पनी के उपयोगकर्ता आप हैं उसी टेलीकॉम कंपनी के पूरे भारत में 150,000,000 ग्राहक हैं|

चलिए मान लेते हैं कि प्रत्येक उपयोगकर्ता औसतन 5 मिनिट प्रति दिन मोबाइल पर बात करता है।

एक मध्यम ऑडियो mp3 फाइल 5 मिनट के लिए करीब करीब 5 mb साइज की बनती है, परंतु हम वॉइस कॉल रिकॉर्ड में सबसे कम amr को लेते हैं जो कि 10 मिनट के ऑडियो को भी 5 mb साइज में रखता है।

इसका मतलब (कुल उपभोगकर्ता×बात का औसत समय/ 1024 = प्रतिदिन आवश्यक साइज) = करीबन 75000 Gb/प्रतिदिन

अगर हम इतना स्टोरेज अमेज़न के ग्लेशियर स्टोरेज पर भी खरीदें (जो कि विश्व का सबसे सस्ता स्टोरेज स्थान है) तो भी हमें 0.01$/gb पड़ेगा(हालांकि यह भारत में उपलब्ध नहीं है)।

इस प्रकार यह कुल 45000 रूपये प्रतिदिन या 750$ प्रतिदिन कम्पनी को डाटा स्टोर करने के लगेंगे|

जबकि उसका कोई लाभ नहीं है और वह सारा पैसा एक तरह से व्यर्थ जाएगा क्योंकि उन रिकॉर्डिंग का कोई मतलब नहीं रह जाएगा और उनको कम्पनी utilize भी नहीं कर पाएगी।

इस प्रकार हम समझ सकते हैं कि किन्ही विशेष परिस्थितियों के अलावा हमारी वॉइस कॉल रिकॉर्ड संभव ही नहीं है।

कमेंट लिखें