क्या टिकटोक हमेशा के लिए बंद हो गया है?
समसामयिक

क्या टिकटोक हमेशा के लिए बंद हो गया है?

क्या टिकटोक हमेशा के लिए बंद हो गया है?


29 जून 2020 की शाम को जैसे ही भारत सरकार द्वारा टिकटोक सहित 59 मोबाइल एप्लीकेशन को प्रतिबंधित करने की खबर आई यह बात जंगल में आग की तरह फ़ैल गयी. अधिक फोल्लोवर्स वाले यूजर्स के पाँवों तले तो जैसे जमीन ही खिसक गयी थी.

क्या टिकटोक हमेशा के लिए बंद हो गया है?

जो टिकटोक पर नए थे और कम फॉलोवर थे उन्होंने इस घटना को मज़ाक बना दिया.

वहीं टिकटोक मंगलवार सुबह तक प्ले स्टोर पर डाउनलोड भी हो रहा था. ऐसे में कुछ यूजर्स अपने पुराने वीडियोज सेव करने लगे.

टिक-टोक भारत के मुख्य एग्जीक्यूटिव के अनुसार वे किसी भी प्रकार के डाटा का चोरी नहीं कर रहे हैं और चाइना सहित किसी भी देश को नहीं दे रहे हैं. उनके अनुसार भारत सरकार और टिक-टोक के मध्य स्थिति फिर से सुधर जाएगी और टिकटोक पहले की ही तरह 14 भारतीय भाषाओं में फिर से शुरू हो जाएगा.

गौरतलब है कि टिक-टोक को कुछ लोग बहुत ही घृणित नज़रों से देखते हैं जबकि कुछ लोग इसे टैलेंट हट मानते हैं.

क्या टिकटोक हमेशा के लिए बंद हो गया है?

ऐसे में जिस आत्मविश्वास के साथ टिक-टोक के प्रवक्ता कह रहे हैं, उससे तो लगता है स्थिति पुनः सामान्य हो जाएगी और टिक-टोक पर से भारत सरकार का प्रतिबन्ध हट जाएगा।

भारत सरकार को लग रहा था कि टिकटोक जैसी चीनी एप्प भारतीय यूजर्स के डेटा का दुरुपयोग कर सकती है और अब जब संवेदनशील स्थिति दोनों देशों के मध्य बन रही है तब चाइना के लिए ये इन्फॉर्मेशन हथियार साबित होगा।

भारतीय नागरिकों द्वारा भी चीनी सामग्रियों का विरोध बड़े स्तर पर जारी है। लेकिन कुछ ऐसे टिकटोकर्स भी हैं जिनका टिकटोक ने जीवन बदल दिया।

ऐसे में पूरी जाँच और टिकटोक द्वारा डेटा लीक न करने के सबूत मिलने पर ही भारत इस एप्प को लेकर थोड़ी उदारता दिखा सकता है।

कमेंट लिखें