इतिहास पर लेख

एक फौजी का पत्र 1918
इतिहास

माँ, यहाँ कोई खतरा नहीं है : एक फौजी का पत्र 1918

एक फौजी का पत्र 31 अक्टूबर, 1918 को प्रथम विश्व युद्ध अंत के करीब था तब  युद्ध के कवि और द्वितीय मेनचेस्टर रेजिमेंट के अधिकारी विल्फ्रेड ओवन ने अपनी मां को पत्र लिखा। अफसोस की बात है कि यह उनका आखिरी पत्र था। चार दिन बाद ही ओवेन की गोली मारकर हत्या कर दी गई। […]

क्या महात्मा गांधी अंग्रेजों से नफरत करते थे?
इतिहास

क्या महात्मा गांधी अंग्रेजों से नफरत करते थे?

क्या महात्मा गांधी अंग्रेजों से नफरत करते थे? महात्मा गांधी के बारे में काफी तथ्य प्रचलित हैं जिनमें से एक है कि वे खुद को प्राप्त होने वाले हर पत्र का प्रत्युत्तर देने की पूरी कोशिश करते थे. ऐसा ही एक रोचक पत्र गांधी जी को मिला जिसमें फ्रेड कैम्पबेल नाम के व्यक्ति ने उनसे […]

कौन थे मेजर शैतान सिंह जिनके नाम से आज भी चीन कांपता है?
इतिहास

कौन थे मेजर शैतान सिंह जिनके नाम से चीन आज भी कांपता है

कौन थे मेजर शैतान सिंह जिनके नाम से चीन आज भी कांपता है     “सुबह के ठीक सवा आठ बजे मेजर साहब ने प्राण दे दिए। मैंने उनके हाथ पर बंधी घड़ी को देखा। वो सवा आठ पर रुक गई थी। वो घड़ी उनकी नब्ज से चलती थी।” ये कहना है सूबेदार रामचन्द्र यादव […]

पानीपत की लड़ाइयाँ एक ही जगह क्यों हुई?
इतिहास

पानीपत की लड़ाइयाँ एक ही जगह क्यों हुई?

पानीपत की लड़ाइयाँ इतिहास पढ़ते हुए हमें पानीपत में हुए तीन महत्वपूर्ण युद्धों से परिचित होना पड़ता है, इन्हें पढ़ते हुए हमारे मन में यह प्रश्न जरूर कौंधता है कि अलग-अलग समय में हुई पानीपत की लड़ाइयाँ भी पानीपत के एक ही मैदान पर क्यों हुई? इसी प्रश्न का उत्तर लेकर आये हैं हम- पानीपत […]

Hemmano-Articles
इतिहास

जलियांवाला बाग़ 1919

जलियांवाला बाग़ पंजाब में हर साल बैशाखी का मेला भरता है। बैशाखी का बच्चों को उतना ही इंतजार रहता है जितना बचपन में हमें गणगौर के मेले का रहता था।उस दिन रविवार था। मेला भरा था अमृतसर के जलियांवाला बाग़ में। सब दरबारसाहिब के दर्शन करके मेले में आ रहे थे। काफी संख्या में लोग […]