Hemmano-Articles
समसामयिक

मशीनीकरण का युग इंसान के लिए खतरा?

मशीनीकरण का युग इंसान के लिए खतरा? देश-दुनिया में मशीनों के प्रति बढ़ता लगाव और आदमी की पराधीनता मनुष्य के भविष्य को संकट में डाल रही है। खेतों से लेकर कारखानों तक हर क्षेत्र में 100 आदमियों की जगह एक रोबोट या एक  मशीन प्रतिस्थापित हो गई है। समय और सुलभता की माँग काम करने […]

विद्या सिन्हा : बीते हुए कल की कुछ यादें
फिल्मी जगत

विद्या सिन्हा : बीते हुए कल की कुछ यादें

अपने समय की महत्वपूर्ण अभिनेत्री विद्या सिन्हा इस दुनिया को पिछले साल अलविदा कह गई थी। विद्या सिन्हा की जिंदगी अभिनय के मर्म की तलाश थी। एक बेकल आत्मा की जिंदगी थी। विद्या सिन्हा ने चमचमाती हुई स्टारडम वाली फिल्मों में अभिनय नहीं किया। वह उनके लिए आसान रास्ता था क्योंकि वह फिल्म वितरक पिता […]

सबसे सस्ते और जरुरी प्रोडक्ट्स जो ज़िन्दगी में लायेंगे नयापन
तकनीक

सबसे जरुरी और सस्ते गैजेट जो ज़िन्दगी में लायेंगे नयापन

सबसे जरुरी और सस्ते गैजेट जो ज़िन्दगी में लायेंगे नयापन आजकल की डिजिटल ज़िन्दगी में जब तक कोई नया गैजेट आ न जाए तब बोरियत सी होने लगती है, भारतीयों को हर चीज़ में कुछ स्पेशल चाहिए होता है. रोज़मर्रा की चीज़ों में जब कुछ बेहतर आ जाए तो वे चीजें और ज्यादा स्पेशल बन […]

युद्ध या शान्ति? क्या है आपका चुनाव? : Hemmano Guest Column
समसामयिक

युद्ध या शान्ति? क्या है आपका चुनाव? : Hemmano Guest Column

युद्ध या शान्ति? क्या है आपका चुनाव? दुनिया ईसा मसीह के जन्म के बाद से अब 21वीं सदी में पहुँच गयी है, ईसा के जन्म से पहले भी दुनिया का बहुत बड़ा इतिहास था लेकिन पूरा कत्लों, युद्धों, लड़ाइयों से भरा हुआ. बुद्धकाल के बाद से ही बेहद उम्मीद थी कि संसार में क्षीण होती […]

सच होती मैट्रिक्स की कल्पना
फिल्मी जगत

सच होती मैट्रिक्स की कल्पना?

सच होती मैट्रिक्स की कल्पना? हम अक्सर कहते हैं कि फिल्में समाज का आईना होती हैं लेकिन किस हद तक? अगर कोई फ़िल्म कॉमेडी जेनर है तो हम कह सकते हैं कि इस तरह का रियल लाइफ में कुछ भी नहीं होता लेकिन अगर वही साइंस फिक्शन हो तो क्या वह होना सम्भव नहीं है? […]